Type Here to Get Search Results !

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर क्या है? Utility software kya hai? जाने आसान भाषा में?

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर क्या है? What is utility software in hindi?

फ्रेंड्स हम सभी जान रहे है की कंप्यूटर के दो भाग होते है जिसमे से पहला है हार्डवेयर दूसरा है सॉफ्टवेयर. हार्डवेयर कंप्यूटर के वो सारे फिजिकल पार्ट होते है जिससे मिलकर एक कंप्यूटर का निर्माण होता है जिसे हम देख तथा छु सकते है जैसे- Motherboard, SMPS, HDD, Keyboard, Mouse Etc. और सॉफ्टवेयर कोई फिजिकल पार्ट नहीं होता है इसलिए इसे हम भोतिक रूप से स्पर्श नहीं कर सकते बल्कि इसे केवल देख और महसूस कर सकते है. सॉफ्टवेयर Programming Language में लिखा गया इंस्ट्रक्शन सेट का समूह होता है जो हार्डवेयर में जान डालने का काम करता है.

कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर को दो श्रेणी में बांटा गया है:-
1. System Software
2. Application Software

1. System Software:
सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के वे सॉफ्टवेयर होते है जो कंप्यूटर के हार्डवेयर में जान डालकर उसे यूजर फ्रेंडली बनाने का काम करता है अर्थात यूजर और कंप्यूटर हार्डवेयर के बीच इंटरफ़ेस बनाने का कार्य करता है। Operating System, Utility Software, Device Driver Etc ये सभी सिस्टम सॉफ्टवेयर की श्रेणी में आते है.

2. Application Software: एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के वे सॉफ्टवेयर होते है जो किसी खास कार्यों को पूरा करने के उद्देश्य से बनाये जाते है। जैसे- MS Office, Tally, Photoshop Etc ये सभी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की श्रेणी में आते है.

इन्ही में से आज हमलोग इस आर्टिकल में Utility Software के बारे में चर्चा करने जा रहे है, तो चलिए शुरू करते है.....


यूटिलिटी सॉफ्टवेयर क्या है? What is utility software in hindi?

Utility software kya hai?

Utility Software कंप्यूटर सिस्टम का एक ऐसा प्रोग्राम या सॉफ्टवेयर होता हैं जो कम्प्युटर को Configure, Optimize, Troubleshooting तथा Maintenance करने में मदद करता हैं। यूटिलिटी सॉफ्टवेयर System Software की श्रेणी में आते है इसलिए बहुत सारे यूटिलिटी सॉफ्टवेयर ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ आते है जैसे- Disk Defragmenter, Disk Cleanup, Windows Defender, Disk Management, Resources Monitor इत्यादि। इसके अलावा कुछ Utility Software अपने जरुरत के अनुसार अलग से भी इनस्टॉल करते है जैसे- Antivirus, Disk Cleaner इत्यादि। सामान्य तौर पर Utility Software को केवल Utility या Utilities भी बोला जाता है।

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर के कार्य? Function of utility software in hindi?

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर को डायरेक्ट यूजर के कार्यों को करने के लिए विकसित नहीं किये जाते है बल्कि यह उसी कंप्यूटर मशीन की परफॉरमेंस को बेहतर बनाने के लिए, नई फंक्शन जोड़ने के लिए, सुरक्षा देने के लिए या ट्रबलशूटिंग करने के लिए टूल्स के रूप में कार्य करने के लिए बनाये जाते है।
अलग-अलग प्रकार के कार्यों को करने के अलग-अलग प्रकार के Utility Program होते है।


यूटिलिटी सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते है? Type of utility software in hindi?

कार्य के अनुसार कई प्रकार के यूटिलिटी प्रोग्राम होते है जैसे-

File Management Program:

फाइल मैनेजमेंट प्रोग्राम कंप्यूटर की सारी फाइल तथा फोल्डर को एक सही Way में Arrange व Manage करने की सुविधा प्रदान करता है। जैसे- Grouping करना, Sorting करना, Folder Size छोटा-बड़ा करना, फोल्डर Delete करना, किसी File अथवा Folder को सर्च करना Etc.
Windows Computer में पाए जानेवाला Windows Explorer एक पॉपुलर File Management Program है।

File Compression Program:

फाइल कम्प्रेशन प्रोग्राम कंप्यूटर के किसी भी टाइप के फाइल जैसे-Document, Audio, Video इत्यादि को Compress करके सुरक्षित रखने की सुविधा प्रदान करता है। किसी भी फाइल को कंप्रेस कर देने से वह फाइल Protect हो जाती है तथा उसकी वास्तविक साइज भी कम हो जाती है जिससे वह Disk Space कम यूज़ करती है। Protected File पर वायरस इत्यादि का कोई खतरा नहीं रहता है।
WinZip, WinRAR, 7Zip....ये सभी Third Party File Compression Utility Software के उदाहरण है।

Backup & Recovery Tool:

ये टूल कंप्यूटर की सारी डाटा को मेन स्टोरेज के अलावा किसी दूसरे लोकेशन में भी बैकअप रखने की सुविधा प्रदान कराती है जिससे किसी एक्सीडेंट में डाटा गायब होने की कंडीशन में पुनः प्राप्त किया जा सके। आज-कल ज्यादातर Cloud Storage का यूज़ किया जाता है जो इन्टरनेट पर डाटा का बैकअप रखने की सुविधा देता है। Cloud Storage के उदहारण है- Google Drive, One Drive Etc.

Security Program:

आज-कल ज्यादातर कंप्यूटर यूजर हमेशा इन्टरनेट से जुड़ा रहता है जिस कारण हमलोगों के कंप्यूटर में वायरस अटैक, मैलवेयर अटैक, हैकिंग इत्यादि का खतरा बढ़ जाता है और ये सभी कंप्यूटर की सिक्योरिटी को ही भंग करने का काम करता है। कंप्यूटर की सिक्योरिटी भंग होना भी बहुत ही बड़ी समस्या है क्योंकि हमारे कंप्यूटर मे बहुत सारी संवेदनशील डाटा हो सकती है जिसको सुरक्षित रखना हमारी जिम्मेदारी होती है।
Security Program जैसे- Antivirus, Firewall इत्यादि हमारी कंप्यूटर को इन्हीं सारी बाहरी गतिविधियों से बचाये रखती है जिससे कंप्यूटर की डाटा पूर्ण रूप से सुरक्षित रहती है।
Windows OS की Windows Defender तथा Windows Firewall सिक्योरिटी प्रोग्राम के उदहारण है।

Disk Management Program:

ये प्रोग्राम कंप्यूटर की स्टोरेज को Arrange तथा Manage करने की सुविधा प्रदान करती है।
Windows OS की Disk Manager, Disk Cleanup तथा Disk Defragmenter डिस्क मैनेजमेंट प्रोग्राम के उदहारण है।
इसे अलावा और भी बहुत सारे Utility Software हो सकते है यहाँ हमने कुछ Utility का उदाहरण प्रस्तुत किया है.

इन्हें भी पढ़ें:→
निष्कर्ष:
फ्रेंड्स हमें उम्मीद है की हमारे द्वारा यूटिलिटी सॉफ्टवेयर के बारे में लिखी गयी यह आर्टिकल आपको पसंद आई होगी तथा इस आर्टिकल के माध्यम से आपको यूटिलिटी के बारे में बहुत कुछ जानने को मिला होगा. फिर भी किसी प्रकार की कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है. यह आर्टिकल आपको कैसी लगी इसकी फीडबैक कमेंट के माध्यम से जरूर दें, आपकी फीडबैक हमारे लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि आपकी फीडबैक ही आपके द्वारा पढ़े जा रहे आर्टिकल की गुणवत्ता में इम्प्रूवमेंट लाने में हमारी मदद करता है। साथ ही अगर यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आई हो तो अपने फ्रेंड सर्किल में अधिक से अधिक शेयर करें। इसी प्रकार की कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी से संबंधित आर्टिकल पढ़ते रहने के लिए Comtechinhindi.IN से जुड़े रहें. धन्यवाद!
Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Comtechinhindi.IN से जुड़े रहने के लिए नीचे दिए गए "JOIN" बटन को दबाकर टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन करें !

telegram join button