एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है? Application software kya hai?

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है, पूरी जानकारी हिंदी में:-

फ्रेंड्स हम सभी जानते है की कोई भी कम्प्यूटेशनल डिवाइस दो भागों से मिलकर बना होता है जिनमे से पहला है हार्डवेयर और दूसरा है सॉफ्टवेयर.

हार्डवेयर उसमे लगे सारे इलेक्ट्रॉनिक्स पार्ट्स को कहा जाता है जिसे हम देख तथा छु सकते है, जिनसे मिलकर एक कम्पलीट कंप्यूटर का निर्माण होता है.

सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में लिखा गया इंस्ट्रक्शन सेट होता है जो हार्डवेयर में जान डालने का काम करता है, सॉफ्टवेयर हार्डवेयर को निर्देश देने का काम करता है अर्थात सॉफ्टवेयर यह बताने का काम करता है की हार्डवेयर को क्या करना है. बिना सॉफ्टवेयर के कोई भी कम्प्यूटेशनल डिवाइस केवल एक बेजान मशीन बनकर रह जायेगा.

हमारे किसी भी कम्प्यूटेशनल डिवाइस जैसे- कंप्यूटर, लैपटॉप, मोबाइल इत्यादि में उपयोग होनेवाले सॉफ्टवेयर भी दो तरह के होते है जिनमे से पहला है सिस्टम सॉफ्टवेयर और दूसरा है एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर. हालाँकि सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के अंतर्गत भी कई तरह के सॉफ्टवेयर आते है जिसका काम अलग-अलग होता है.

आज हमलोग इस टॉपिक में विशेष रूप से एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के बारे में ही चर्चा करने जा रहे है इसलिए आपसे आग्रह है की पूरी आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ें....



वैसे एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को जानने से पहले हमलोग संक्षेप में सिस्टम सॉफ्टवेयर को भी जान लेते है.

सिस्टम सॉफ्टवेयर वे सॉफ्टवेयर होते है जिसका सम्बन्ध डायरेक्ट कंप्यूटर के हार्डवेयर पार्ट से होता है अर्थात इसका काम यूजर के किसी विशेष कार्य को करना नहीं होता है बल्कि इसका काम होता है हार्डवेयर को काम करने के लिए तेयार करकर यूजर फ्रेंडली बनाना, क्योंकि जब तक कोई भी डिवाइस यूजर फ्रेंडली नहीं होगा अर्थात मनुष्य के काम करने लायक नहीं होगा तब तक हम उसे नहीं चला सकते क्योंकि मनुष्य की समझने की भाषा अलग है और इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस की समझने की भाषा अलग, इसलिए यूजर की कमांड हार्डवेयर यानि इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस को समझाने के लिए भी एक सॉफ्टवेयर की जरुरत पड़ती है जिसे सिस्टम सॉफ्टवेयर कहा जाता है. यहाँ यूजर अपनी बात सिस्टम सॉफ्टवेयर को बताता है और सिस्टम सॉफ्टवेयर उस बात को हार्डवेयर को समझाने का काम करता है तभी कंप्यूटर हमारे निर्देशानुसार कार्य करता है. सिस्टम सॉफ्टवेयर के उदहारण है- Operating System (Windows, Linux, Ubuntu, Android, ios Etc.), Utilitiey Software, Device Driver, Firmware

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है? What is application software in hindi?

Application software kya hai

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर वे सॉफ्टवेयर होते है जो यूजर की किसी खास कामों को पूरा करने के लिए बनाया जाता है जैसे- कोई Textual Document बनाने के लिए Word Processing Program का यूज़ किया जाता है, Database Management के लिए Database Program, Video/Audio चालने के लिए Media Player और भी बहुत तरह के प्रोग्राम या सॉफ्टवेयर होते है जिसका सम्बन्ध डायरेक्ट यूजर के साथ होता है क्योंकि ये सभी प्रोग्राम किसी खास काम को करने में उपयोग की जाती है. हमारे कंप्यूटर सिस्टम में एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर ही होता है जिसपर यूजर अपना वास्तविक कार्य को करता है. हालाँकि सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर दोनों सॉफ्टवेयर ही है पर काम दोनों का अलग-अलग होता है.

जहाँ सिस्टम सॉफ्टवेयर Back End में काम कर रहा होता है वहीँ एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर Front End में कार्य कर रहा होता है यानि सिस्टम सॉफ्टवेयर के ऊपर हमारा एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर चलता है. वैसे बगैर सिस्टम सॉफ्टवेयर के हम एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल भी नहीं कर सकते.
Hardware to application software steps
एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के उदहारण है:- Microsoft Office, Adobe Photoshop, Tally, VLC Media Player, Adobe Premier, Wondarshare Filmora, Coral Draw इत्याद,. इसके अलावा मोबाइल फ़ोन के सभी Apps भी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के ही उदहारण है.




एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते है?

कार्य के अनुसार कई तरह के एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर होते है जिनमे से कुछ महत्वपूर्ण एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की श्रेणी का जिक्र यहाँ किया जा रहा है, जैसे....

Word processing software:

वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर का उपयोग टाइपिंग, डॉक्यूमेंट एडिटिंग, फोर्मटिंग जैसे कार्यों को करने के लिए किया जाता है. वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर के उदहारण है- Microsoft Word, Apple Works

Spreadsheet software:

स्प्रेडशीट सॉफ्टवेयर एक ऐसा प्रोग्राम होता है जिसका उपयोग संख्यात्मक या वित्तीय डेटा को रिकॉर्ड करने, गणना करने और तुलना करने के लिए किया जाता है. स्प्रेडशीट सॉफ्टवेयर के उदहारण है- MS Excel, Libre Office Calc, iWork Numbers etc.

Database Management Software:

डेटाबेस मैनेजमेंट सॉफ़्टवेयर का उपयोग डेटा को Store, Manipulate और Manage करने के लिए किया जाता है. डेटाबेस मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर के उदहारण है- Microsoft Access, FileMaker Pro etc.

Presentation Software:

प्रेजेंटेशन सॉफ्टवेयर हमें अपनी आईडिया और विचारों की टेक्स्ट, इमेज, ऑडियो और वीडियो की मदद से ग्राफिकल प्रस्तुति बनाने की सुविधा देता है. प्रेजेंटेशन सॉफ्टवेयर की मदद से हम सुन्दर से सुन्दर ग्राफिकल प्रेजेंटेशन जिसे स्लाइड शो के नाम से भी जाना जाता है, बनाकर हम अपनी विचार या प्रोजेक्ट दूसरों के सामने प्रस्तुत कर सकते है. प्रेजेंटेशन सॉफ्टवेयर के उदहारण है- Microsoft Powerpoint, SlideDog etc.

Accounting Software:

एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर वह सॉफ्टवेयर होता है जो विभिन्न तरह के एकाउंटिंग और फाइनेंसियल कार्य मैनेजमेंट करने का काम करता है, यह किसी व्यवसाय के फाइनेंसियल डेटा को संग्रहीत करता है और इसका उपयोग व्यावसायिक लेनदेन करने के लिए किया जाता है. एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर के उदहारण है- Tally, Vyapar, Xero Accounting etc.

Desktop Publishing Software:

डेस्कटॉप पब्लिशिंग सॉफ्टवेयर (डीटीपी) का उपयोग पत्र, ब्रोशर और न्यूजलेटर जैसे डॉक्यूमेंट बनाने के लिए किया जाता है. डेस्कटॉप पब्लिशिंग सॉफ्टवेयर के उदहारण है- Adobe InDesign, Adobe PageMaker, Microsoft Publisher etc.

Graphics Designing Software:

ग्राफ़िक्स डिजाइनिंग सॉफ़्टवेयर का उपयोग 2D, 3D चित्र बनाने और विभिन्न स्वरूपों की ग्राफिक फ़ाइलों को संपादित और परिवर्तित करने के लिए किया जाता है. ग्राफ़िक डिजाइनिंग सॉफ्टवेयर के उदहारण है- Adobe Illustrator, Adobe Photoshop, Coral Draw, Autocad etc.

Multimedia Software:

मल्टीमीडिया प्रोग्राम या सॉफ़्टवेयर वह सॉफ़्टवेयर होता है जो ऑडियो वीडियो फ़ाइलों को चलाने या रिकॉर्ड करने की सुविधा प्रदान करता है. मल्टीमीडिया सॉफ्टवेयर के उदहारण है- Windows Media Player, VLC media player, Winamp, Media Monkey, iTunes etc.


एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कार्य?

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कार्य की बात करें तो हम सभी जान चुके है की एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर किसी खास कार्यों को करने लिए बनाये जाते है परन्तु यह खास कार्य सिमित नहीं है इसलिए अलग-अलग तरह के कार्यों को करने के लिए अलग-अलग तरह के एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर डिजाईन किये जाते है. कोई भी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर जिस कार्य को करने के लिए डेवेलप किये जाते है उसपर हम केवल वही कार्य कर सकते है जैसे- MS Word एक वर्ड प्रोसेसर प्रोग्राम है इसलिए उसपर केवल हम Text, Typing, Editing, Formatting जैसे कार्यों को कर सकते है, Tally एक एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है इसलिए इसपर हम केवल Accounting से सम्बंधित कार्य ही कर सकते है. Photoshop एक फोटो एडिटिंग सॉफ्टवेयर है इसलिए इसपर फोटो Editing, Formatting जैसे कार्यों को कर सकते है.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की विशेषताएं?

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की विशेषताओं की बात करें तो इसके निम्नलिखित विशेषता है:-

  • चूंकि यह किसी खास कार्यों को ध्यान में रखते हुए बनाया जाता है इसलिए एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर यूजर की सटीक आवश्यकताओं को पूरा करती है.
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर पर हमें किसी खास कार्यों को करने के लिए सारी सामग्री (Function, Tool) एक सिंगल विंडो पर ही मिल जाती है.
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर एक सामान्य यूजर के काम को आसन बनाने का काम करता है.
  • कई एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में जरुरत के अनुसार Add-Ons लेने की भी सुविधा मिल जाती है.
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर यूजर फ्रेंडली बनाये जाते है जिसको चलाना भी आसन होता है.
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर हमें, उसपर बनाये गए प्रोजेक्ट को कई फॉर्मेट में सेव करने की सुविधा देती है.

Conclusion (निष्कर्ष):
फ्रेंड्स हमें उम्मीद है की एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के बारे में हमारे द्वारा लिखी गयी इस आर्टिकल को पढ़कर आप समझ गए होंगे की एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है और हमारे कंप्यूटर सिस्टम में इसकी क्या भूमिका है. फिर भी यदि किसी प्रकार की कोई कंफ्यूजन रह गयी हो तो कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है. साथ ही यह आर्टिकल आपको कैसी लगी इसकी प्रतिक्रिया कमेंट के माध्यम से देना ना भूले. अगर यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आई हो तो अपने फ्रेंड सर्किल में अधिक से अधिक शेयर करें. इसी तरह की और भी आर्टिकल को पढने के लिए Comtech In Hindi से जुड़ें रहें. धन्यवाद!