कम्प्युटर हार्डवेयर क्या है | कंप्यूटर हार्डवेयर किसे कहते है?

कम्प्युटर हार्डवेयर क्या है? Computer Hardware Kya Hai?

फ्रेंड्स हम सभी को पता है कि कंप्यूटर के मुख्य रूप से दो भाग होते है जिसमे से पहला है Hardware और दूसरा है Software. और शायद हम में से जो भी लोग कंप्यूटर की थोड़ी-बहुत जानकारी रखते होंगे उन्हें कंप्यूटर हार्डवेयर के बारे में पता होगा. पर जिन लोगों को इसके बारे में पता नहीं है यह आर्टिकल उनके लिए हेल्पफुल होने वाली है, क्योंकि आज हमलोग इस टॉपिक में कंप्यूटर हार्डवेयर के बारे में चर्चा करने जा रहे है. तो चलिए शुरू करते है.... 

कम्प्युटर हार्डवेयर क्या है ? कंप्यूटर हार्डवेयर किसे कहते है?

Computer Hardware in hindi

कम्प्युटर में लगे वो सारे फ़िज़िकल पार्ट जिसे हम देख तथा छू सकते है वे सभी कम्प्युटर हार्डवेयर कहलाते है और इन्ही हार्डवेयर पार्ट से मिलकर ही हमारा एक कंप्लीट कम्प्युटर का निर्माण होता है। जैसे- CPU, Motherboard, RAM, Hard Disk, SMPS, Keyboard, Mouse, Monitor, Printer. ये सभी कंप्यूटर के हार्डवेयर कहलाते है.

कम्प्युटर हार्डवेयर के बारे में जानकार हम कम्प्युटर में Hardware Expert बन सकते है जिसके बाद कम्प्युटर Repairing से लेकर Assembling तक के कार्य को कर सकते है।

कम्प्युटर हार्डवेयर के अंतर्गत दो तरह के पार्ट होते है-

1. External Hardware Part (बाहरी हार्डवेयर पार्ट)
2. Internal Hardware Part (आंतरिक हार्डवेयर पार्ट्) 

1. External Hardware Part-

इसके अंतर्गत वो सारे कम्प्युटर में लगाए जाने वाले इनपुट आउटपुट डिवाइस आते है जिसको बाहर से कम्प्युटर में जोड़ा जाता है वे सभी External Hardware Part कहलाते है।
जैसे- Keyboard, Mouse, Monitor, Speaker, Printer, Scanner
  • Keyboard- यह कम्प्युटर का एक महत्वपूर्ण इनपुट डिवाइस होता है जिसके ऊपर Alphabet , Numeric, Special Character तथा अतिरिक्त कुछ Important Keys होते है जिसको दबाकर हम कम्प्युटर को इनपुट देते है।
  • Mouse- यह एक कम्प्युटर मे लगाकर हाथ से कंट्रोल किया जानेवाला Pointing Device होता है जिसकी मदद से कार्य करने के दोरान कम्प्युटर को कमांड दिये जाते है या एक्शन करवाए जाते है । इस डिवाइस का Icon कम्प्युटर स्क्रीन पर तीर के समान दिखाई देता है जिसे Mouse Pointer कहते है जो Mouse के साथ साथ Move होते है जिसको देखकर हम ऑन स्क्रीन किसी भी लोकेशन तक Pointer को ले जाते है और कमांड देते है। 
  • Monitor- यह कम्प्युटर का एक महत्वपूर्ण आउटपुट डिवाइस होता है जिसे VDU( Visual Display Unit ) भी कहते है इसपर कम्प्युटर पर चल रहे Operations Colorful ग्राफिक के रूप में हमारे सामने दिखाई देता है जिसको देखकर User कोई भी कार्य करता है। 
  • Speaker- इस डिवाइस पर कम्प्युटर पर चल रहे प्रोग्रामों का Audio हमारे सामने सुनाई देता है । 
  • Printer- यह कम्प्युटर का एक ऐसा आउटपुट डिवाइस होता है जिसके द्वारा कम्प्युटर पर किए जा रहे कार्य का Printed Hard Copy हमे प्राप्त होता है इसी के द्वारा कोई भी Document छपाई की जाती है। 
  • Scanner- इस डिवाइस की सहायता से कोई भी Document या Photo इत्यादि को स्कैन करके कम्प्युटर को इनपुट दिया जाता है।

2. Internal Hardware Part-

इसके अंतर्गत वो सारे पार्ट आते है जो कम्प्युटर कैबिनेट के अंदर लगे होते है जैसे- Motherboard, Processor, RAM, ROM, Hard Disk, Floppy Disk Drive, Optical Disk Drive, SMPS, Colling Fan, . ये सभी Internal Hardware Part कहलाते है।
  • Motherboard- यह कम्प्युटर का एक महत्वपूर्ण आंतरिक पार्ट होता है जो एक बोर्ड के समान होता है जिसके ऊपर बहुत सारे इलेक्ट्रॉनिक्स कॉम्पोनेंट से मिलकर सर्किट बने होते है । इस बोर्ड के ऊपर एक चोकोर सॉकेट बने होते है जिसपर सीपीयू लगाए जाते है तथा इसके अतिरिक्त बहुत सारे पोर्ट तथा स्लॉट बने होते है जिसके ऊपर कम्प्युटर में लगे और सारे डिवाइस जैसे RAM, Expansion Card, HDD, ODD, SMPS Connect किए जाते है। 
  • SMPS- इसका पूरा नाम Switch Mode Power Supply है जो पूरी कम्प्युटर सिस्टम के सभी भागों को पॉवर सप्लाई की आपूर्ति करने का काम करता है। 
  • Processor- यह कम्प्युटर सिस्टम का एक मुख्य कॉम्पोनेंट होता है जो एक बड़ी सी चिप के समान होता है जिसके द्वारा कोई भी Mathematical अथवा Logical एक्शन को करवाया जाता है तथा यह कम्प्युटर के सारे भागों को कंट्रोल करने का काम करता है। 
  • RAM- यह कम्प्युटर की एक Primary Memory होती है जिसका पूरा नाम Random Access Memory होता है। जो कम्प्युटर पर कार्य करने के दोरान चल रहे प्रोग्रोमों को तत्काल रूप से Space (जगह) देने का काम करता है तथा कम्प्युटर के On रहने तक Data Save किए रहता है इसकी सारी Data कम्प्युटर के Off हो जाने के बाद गायब हो जाते है । पुनः इसे दोबारा कार्य करने के लिए System On करने के दोरान सारी Necessary File, Software इत्यादि RAM पर Load होते है। 
  • ROM- यह कम्प्युटर का एक छोटा सा चिप (IC) के समान ऐसा मेमोरी होता है जिसमे कम्प्युटर सिस्टम का सबसे पहला सॉफ्टवेअर डाले जाते है जिसे Firmware कहते है । इसमे कम्प्युटर के हार्डवेयर इन्फॉर्मेशन तथा इसको एक्टिव होने का Timing Sequence Motherboard Manufacturer Company के द्वारा Instruction Set डाले गए होते है । इसका कुछ Control भी User के पास होता है जिसे BIOS Setting कहते है।
  • Hard Disk- यह कम्प्युटर का Secondary Memory होती है जिसमे कम्प्युटर की सारी डाटा स्थायी रूप से Store किए जाते है। 
  • ODD (Optical Disk Drive)- यह एक डिस्क ड्राईवर होता है जिसमे Optical Disk (CD-DVD) लगाकर Data Read Write किए जाते है। यह CD-DVD एक Separated Disk होता है जिसमे डाटा स्थायी रूप से सुरक्षित रखे जा सकते है। 
  • Floppy Disk Drive- यह भी एक Secondary Storage Device ही होता है पर इसकी Read Write Speed तथा Storage Capacity कम होने के कारण इसका स्थान ODD,HDD ने ले लिया। आज के समय में इसका उपयोग नहीं होता है। 
  • Colling Fan- इसका काम पूरी कम्प्युटर सिस्टम को ठंडा रखना होता है Colling Fan जरूरत के अनुसार एक कम्प्युटर सिस्टम में 2-3 लगे हो सकते है जिसमे से एक Fan तो Dedicated केवल CPU के ऊपर लगाए जाते है क्योंकि सभी कॉम्पोनेंट में से सबसे ज्यादा सीपीयू ही गर्म होते है बाँकी सब Supporting के लिए होते है। 
  • Touch Pad- यह लैपटाप में पाये जानेवाल एक ऐसा इनपुट डिवाइस है जिसका काम माऊस के समान होता है जिसके ऊपरी सतह पर अंगुलियाँ टच करके मुव करने पर Laptop Screen पर Mouse Pointer भी मुव करता साथ ही इसमे Left-Right Click Button भी होता है जिसकी मदद से User कोई भी कमांड कंप्यूटर को देता है। TouchPad के नीचे इसका ई-सर्किट बना होता है।
इन्हें भी देखें:→
👉CPU क्या है, जानने के लिए यहाँ क्लिक करें....


फ्रेंड्स हमें उम्मीद है की इस आर्टिकल को पढ़कर आपने कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है के बारे में जान गए होंगे। अगर यदि इससे सम्बंधित आपके पास कोई सवाल या सुझाव हो तो Comment करके पूछ सकते है। साथ ही अगर यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। Comtech In Hindi से जुड़े रहने के लिए....धन्यवाद!