SMPS क्या है और यह कैसे कार्य करता है? जानिए बिल्कुल आसान शब्दों में?

SMPS क्या है? SMPS Kya Hai? What is SMPS in hindi?
What is smps in hindi

SMPS जिसका Full Form - Switch Mode Power Supply होता है। यह किसी भी इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस में पाया जानेवाला एक ऐसा सर्किट होता है जो High AC को Regulated DC में बदलकर विधुत की आपूर्ति करता है।
 
हम सभी लोगों को यह पता है कि किसी भी इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस को चलने के लिए पावर की जरुरत होती है और वो पावर हमलोग घर की 220 Volt AC लाइन से देते है। परंतु इन सभी इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस के अंदर बने सर्किट को चलने के लिए अलग-अलग Voltage Range में Regulated DC पावर की जरुरत होती है जिसको पूरा करने के लिए SMPS की लगाया जाता है। SMPS 220 Volt AC Input लेकर Multiple Regulated DC Voltage निकलने का काम करता है।

यहाँ हमलोग आज Computer SMPS के बारे में जानेंगे।

कंप्यूटर में यह SMPS System Unit के अंदर Back Side में लगा होता है जिसमे बहार से पावर केबल लगाया जाता है इसी के माध्यम से SMPS को 220V AC इनपुट दिया जाता है।

बात करें इसकी आकार की तो यह ज्यादातर चोकोर बॉक्स शेप में होता है परन्तु कुछ Branded SMPS Cabinet के आकर के आधार पर भी बनाये जाते है जिसके इनपुट में पावर केबल लगाने के लिए एक Socket लगी होती है तथा आउटपुट में बहुत सारे वायर के साथ Power Connector निकले होते है।

SMPS कंप्यूटर का एक Internal Hardware Part होता है जो सिस्टम यूनिट के अंदर लगे सभी Internal Parts जैसे- Motherboard, Hard Drive, DVD Drive इत्यादि को Required Power देने का कार्य करता है।

यह SMPS 220 Volt AC Input लेकर Multiple DC Output जैसे- 12V, 5V, 3.3V की सप्लाई High Ampere के साथ देने का काम करता है जो सिस्टम के अंदर बने अलग-अलग सर्किट को जाता है।

कंप्यूटर SMPS के Output Connector:-

System Unit के अंदर अलग-अलग भागों तक अलग-अलग Voltage Range में DC Supply पहुँचाने के लिए SMPS से 5-6 तरह के आउटपुट कनेक्टर निकले होते जिसका नाम तथा Voltage इस प्रकार है-

ATX Power Connector-


ATX power connector

यह 20+4 Pin का एक कनेक्टर होता है जिसको Motherboard के साथ जोड़ा जाता है। यह connector पुराने SMPS में केवल 20Pin का पाया जाता है पर इसके बाद आनेवाले सभी SMPS में 24Pin या 20+4Pin का होता है। इसके द्वारा मदरबोर्ड पर बने सभी सर्किट को पॉवर सप्लाई की आपूर्ति होती है। इस कनेक्टर के माध्यम से SMPS में बनने वाली सभी तरह की सप्लाई मदरबोर्ड पर जाती है।

4+4 Pin CPU Power Connector-


4+4 Pin CPU Power Connector

यह 4+4PIn में पाए जानेवाला 12 Volt की CPU Power Connector है जिसके माध्यम से केवल CPU के लिए बने सर्किट को पॉवर की आपूर्ति किया होती है। CPU के लिए पॉवर कनेक्टर किसी किसी SMPS में केवल 4Pin का ही होता है, पर Latest में आनेवाले सभी SMPS में इसको 4+4 कर दिया गया है। 4+4 वाले कनेक्टर को हम दोनों तरह के सॉकेट वाले मदरबोर्ड में कनेक्ट कर सकते है क्योंकि 4Pin वाले दो कनेक्टर को मिलकर 8Pin कनेक्टर बनाया जाता है।

SATA Power Connector-

SATA Power Connector

यह 3.3V, 5V तथा 12V Carry करने वाला 15PIn का कनेक्टर होता है जिसके माध्यम से Hard Drive तथा Optical Drive को Working Supply पहुँचाने का कार्य करता है।

PCI-E Power connector-

PCI-E Power connector

ये PCI-Express Slot वाले मदरबोर्ड में उपयोग किया जानेवाले 6PIn का कनेक्टर होता है जो PCI-Express Slot को अतिरिक्त 12 Volt की सप्लाई देने का कार्य करता है।

Molex Power Connector-

Molex Power Connector

यह 4Pin का पॉवर कनेक्टर होता है जो दो तरह की सप्लाई Carry करता है 12 Volt तथा। इसका उपयोग पुराने IDE टेक्नोलॉजी के Hard Drive तथा Optical Drive को Power देने के लिए किया जाता था। आजकल इस कनेक्टर का उपयोग नहीं के बराबर किया जाता है।

4Pin Floppy Power Connector-

4Pin Floppy Power Connector

यह SMPS के आउटपुट में पाये जानेवाला 4PIn का छोटा सा कनेक्टर होता है जो 5 Volt Carry करता है। इसका उपयोग Floppy Drive को पावर देने के लिए किया जाता था। आज कल इस कनेक्टर का उपयोग नहीं किया जा रहा है।

नोट- सभी कनेक्टर में Black Wire Ground Carry करता है। 

Computer SMPS Wire Color Code:-

Computer SMPS के अलग-अलग वायर से आउट होनेवाले वोल्टेज के लिए एक Standerd Wire Color Code बनाया गया है जो इस प्रकार है-
  • Wire Color = Voltage
  • Yellow = 12 Volt
  • Orange = 3.3 Volt
  • Red = 5 Volt
  • Green = 5 Volt (PS ON)
  • Purple = 5 Volt (SB)
  • Grey = 5 Volt या 3.3 Volt (PWR OK)
  • Blue = -12 Volt
  • White = -5 Volt
  • Black = Ground

Computer SMPS कैसे कार्य करता है:-

SMPS Block Diagram
SMPS Block Diagram

ऊपर की Block Diagram को देखते हुए SMPS की Working Process को समझने का प्रयास करे तो होता ये है कि जब इसमें 220 Volt AC IN किया जाता है तो सबसे पहले AC Filteration सर्किट के द्वारा AC को फ़िल्टर किया जाता है।

फिर फ़िल्टर किये गए AC को एक Rectrification Circuit से गुजारा जहाँ वह Pure DC में Convert हो जाता है तथा इसी सर्किट में लगे Capacitar के द्वारा DC को High कर दिया जाता है।

अब सबसे पहले Starting Transistor (SB Transistor) को Switching कराकर AC Frequency उत्पन्न किया जाता है जिससे Starter Transformer (SB Transformer) Active होकर 5 Volt Stand By (SB) Generate करता है जो SMPS का सबसे पहला वोल्टेज होता है।

यह SB वोल्टेज Motherboard के Trigring Logic को Work करने के लिए सप्लाई देने का कार्य करता है। अब हम जब System Unit के Power Button को दबाते है तो मदरबोर्ड पर बना ट्रिगरिंग लॉजिक के द्वारा PS ON को Low अर्थात Ground करके SMPS के Controller IC को Power Supply ON करने के लिए एक कमांड देता है।

नोट- Power Button दबाने से पहले PS ON Pin High रहता है जो +5Volt होता है।

जिसके बाद Controller IC या PWM IC, Driver Transformer के प्राइमरी वाइंडिंग में AC Pulse उत्पन्न करता है जिससे सेकेंडरी वाइंडिंग में भी AC Pulse उत्पन्न होता है जिसकी मदद से Switching Transistor को Switching करवाया जाता है।

Switching Transistor के Switching होने से यहाँ High Frequency उत्पन्न होता है जिससे SM Transformer के प्राइमरी वाइंडिंग में Electro Magnetic Feild उत्पन्न होता है जिससे Electro Magnetic Induction के कारण सेकेंडरी वाइंडिंग में भी Current Flow होने लगता है जो AC होता है।

अब फिर इस AC को Rectification Circuit से गुजारा जाता है जिसके बाद Regulated DC प्राप्त होता है जो System के सभी भागों में जाता है और System On हो जाता है।

अब ये Output DC सप्लाई हमेशा संतुलन में रहे इसके लिए आउटपुट करंट से एक Feedback Signal Controller IC को जाता है जिसके आधार पर Transistor को Switching कराकर आउटपुट वोल्टेज को संतुलन में रखा जाता है।

अब पूरी System Protect रहे इसके लिए Power OK लॉजिक का प्रयोग किया गया होता है। जब पूरी सिस्टम बिलकुल सही-सही कार्य करने योग्य रहता है तो पॉवर बटन दबाते ही मदरबोर्ड के द्वारा एक High Logic Power OK सिग्नल SMPS के कंट्रोलर IC को भेज दिया जाता है जिसके बाद Driver Transformer को Active कर दिया जाता है और Switching स्टार्ट हो जाता है। इसके विपरीत जब सिस्टम में कही भी Hardware Error रहता है तो यह Power OK Logic Absent हो जाता है जिस कारण कंट्रोलर IC Driver Transformer को Active होने से SMPS ON नहीं होता है।

SMPS Power Rating Detail In Hindi:-

कंप्यूटर के लिए 200 Watt से लेकर 1800 Watt तक के SMPS होते है परन्तु एक सामान्य कंप्यूटर में Use किये जानेवाले SMPS ज्यादातर 300, 450, 600 Watt के होते है जो प्रयाप्त है इससे ज्यादा Wattage के SMPS बहुत ही बड़े हैवी सिस्टम में Use किये जाते है।
Normal SMPS के Output Voltage तथा Current(amp) इस प्रकार है-


इन्हें भी देखें:→

हमें उम्मीद है की SMPS के बारे में लिखी गई इस आर्टिकल से आपको जरुर कुछ जानने को मिला होगा फिर भी किसी प्रकार की Confusion रह गई हो तो कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है।
अगर यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें। धन्यवाद !