Type Here to Get Search Results !

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है, Network marketing kya hai? जानिए विस्तार से?

आइये जानते है क्या होता है नेटवर्क मार्केटिंग और कैसे काम करता है इसका पूरा सिस्टम?

फ्रेंड्स जैसा की हम सभी जानते है की कोई भी कंपनी अपना कोई प्रोडक्ट बनती है तो उसे मार्केट में एक मार्केटिंग चैनल सिस्टम के माध्यम से कस्टमर तक पहुंचती है। इस सिस्टम में Company- Distributor- Wholesaler- Retailer से होते हुए वो प्रोडक्ट End User यानि कस्टमर तक पहुँचती है जो एक ट्रेडिशनल मार्केटिंग सिस्टम या कहें तो प्रोडक्ट डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम है जिसके बारे में शायद सभी लोग जानते है। इस मार्केटिंग सिस्टम में कस्टमर को कोई मुनाफा नहीं होता है केवल उसे प्रोडक्ट मिल जाता है जबकि उसके पीछे चैनल में जुड़े सभी लोगों की एक फिक्स मार्जिन होती है जिससे उसको मोटी रकम की कमाई होती है। साथ ही इस मार्केटिंग सिस्टम में रोजगार की भी संभावनाएँ सिमित होती है क्योंकि इसमें एक बड़ा स्थान डिस्ट्रीब्यूटर, होलेसेलर ही घेरे रखता है।

इसके अलावा आज के इस कम्पटीशन मार्केट के दोर में अगर कोई नई कंपनी गठन करके अपना एक इकोसिस्टम बनाना चाहे तो उसे बहुत ही कठिनाई होती है क्योंकि पहले से ही बड़ी-बड़ी कंपनियां लाखों करोड़ों रूपये खर्च करके प्रचार-प्रसार करवाकर तथा बड़ी-बड़ी हस्तियों को ब्रांड एम्बेसडर बनाकर लोगों के बीच अपना ट्रस्ट बना चुकी होती है जिससे उसका इकोसिस्टम आलरेडी काम कर रही होती है जो नई कंपनियों को मार्केट में ग्रो करने में सबसे बड़ी बाधा है।

ऐसे में इन्ही सारी समस्याओं से दूर हटकर एक ऐसा मार्केटिंग सिस्टम बनाया गया है जिसका नाम है Network Marketing जिसे MLM- Multi Level Marketing, Direct Selling Business, Chain System Business इत्यादि के नाम से भी जाना जाता है जिसमे एक End User यानि कस्टमर भी चाहे तो प्रोडक्ट यूज़ करने के साथ-साथ मुनाफा कमा सकता है। पर क्या आपको पता है की ये नेटवर्क मार्केटिंग क्या है, नेटवर्क मार्केटिंग सिस्टम कैसे काम करता है, नेटवर्क मार्केटिंग में कमाई कैसे होती है वैगरह-वगैरह। अगर ऐसे ही सवालों के बारे में जानने के लिए यहाँ तक आयें है तो आप सही जगह है क्योंकि आज हमलोग इस टॉपिक में नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में ही विश्लेषण करने जा रहे है, इसलिए आपसे आग्रह है की पूरी आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है? Network marketing kya hai?

Network marketing kya hai?

नेटवर्क मार्केटिंग जिसे मल्टी लेवल मार्केटिंग (MLM) के नाम से भी जाना जाता है, यह एक ऐसा बिज़नेस मॉडल या कहें तो मार्केटिंग मॉडल है जिसका नेटवर्क स्ट्रक्चर एक पिरामिड की तरह बनता है। इस बिज़नेस मॉडल में मार्केटिंग का काम पूरी टीम ही करती है वो भी एक दूसरे को इसके नेटवर्क में जोड़कर, इसलिए इसे Chain System Business Model भी कहा जाता है। इस मार्केटिंग मॉडल में जितनी ज्यादा से ज्यादा संख्यां में लोग जुड़ते जाते है उतनी ही ज्यादा कंपनी ओर मेंबर दोनों को फायदा भी होता है। इस बिज़नेस मॉडल का हर एक Participant Member एक Sells Representative की तरह होता है जो अपने कंपनी के प्रोडक्ट को प्रमोट करता है। इस मार्केटिंग सिस्टम कोई भी प्रोडक्ट सीधे मैन्युफैक्चरर कंपनी से उपभोगताओं तक पहुँचाया जाता है जिससे कंपनी के साथ-साथ उपभोगताओं को भी फायदा होता है। इस मार्केटिंग मॉडल में कोई भी उपभोगता सीधे कंपनी से जुड़ जाता है जिससे प्रोडक्ट की खरीददारी पर उसे डिस्काउंट, कैशबैक इत्यादि के रूप में फायदा होता है। साथ ही अगर उपभोगता भी चाहे तो वे नेटवर्क का पार्टिसिपेंट मेंबर बनकर आगे अपने चैन में और भी लोगों को जोड़कर अच्छी खासी इनकम भी कर सकता है।

इस मार्केटिंग सिस्टम में एक ऐसा इकोसिस्टम बनाया जाता है जिसमे ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ सकें और अपने कंपनी की प्रोडक्ट को खपत कर सके। नेटवर्क मार्केटिंग सिस्टम में एक चैन बना दिया जाता है जिससे जुड़े लोग अपने कमाई को बढ़ाने के लिए खुद ही इसको प्रमोट करते है और कंपनी को आगे ले के जाते है। इस मार्केटिंग सिस्टम में किसी बड़ी-बड़ी हस्तियों को मोटी रकम देकर प्रचार-प्रसार नहीं करवाना पड़ता है क्योंकि इसका प्रचार Word of Mouth Method के द्वारा यानि एक दुसरे को बोलकर ही हो जाता है जिससे फण्ड की भी बचत होती है और प्रोडक्ट सस्ती उपलब्ध हो पाती है, ऐसा इसलिए संभव हो पता है क्योंकि इसके इकोसिस्टम में बहुत ही ज्यादा संख्यां में लोग जुड़े होते है और लोग अपनी कमाई को बढ़ाने के लिए अपने आस-पास के लोगों के साथ इसी मेथड का यूज़ करके स्कीम के बारे में बताकर अपने चैन में जोड़ता है। हालाँकि इस मार्केटिंग सिस्टम में भी कंपनियों के उच्चतर क्रमचारियों और प्रतिभागियों के द्वारा समय-समय पर सेमिनार, ट्रेनिंग तथा मीटिंग का आयोजन रखा जाता है ताकि आम लोगों को भी कंपनी के बारे में जानकारी हो और इसमें नए-नए जुड़े प्रतिभागियों को इसके बारे में जानकारी देकर एक कुशल मर्केटर बनाया जा सके।

नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस मॉडल कैसे काम करता है?

नेटवर्क मार्केटिंग पिरामिड स्ट्रक्चर चैन सिस्टम बिज़नेस मॉडल पर काम करती है जिसमे ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़कर एक नेटवर्क बनाना होता है, इसमें प्रत्येक पार्टिसिपेंट मेम्बर खुद ही अपने इनकम और लेवल को बढ़ाने के लिए अपने नेटवर्क में लोगों को जोड़ने के लिए काम करती है। इसका चैन कुछ इस प्रकार से बड़ा होते जाता है की यदि मान लें की हम कंपनी के साथ जुड़ते है और उसके प्रोडक्ट को बेचते है तो इसमें हमें उतना ही मुनाफा हो पता है जितना उस प्रोडक्ट पर मार्जिन रहता है यानि Retail Profit मात्र होता है, इसके अलावा हमें कंपनी के द्वारा कोई सैलरी नहीं दिया जाता है बल्कि हमें खुद ही अपनी इनकम बढ़ाने के लिए काम करना पड़ता है ऐसे में हम अपने निचे और भी लोगों को इससे जोड़ते है यानि हम अपने निचे मेम्बर की संख्यां को बढ़ाते है जिससे होता कुछ ये है की यदि हम कंपनी से जुड़े और हम आगे और 10 लोगों को मेम्बर बना दिए फिर वे 10 लोग और 10-10 लोगों को इससे जोड़ता चला गया तो आगे जाकर प्रोडक्ट की खपत बहुत ही ज्यादा बढ़ जाएगी जिससे हमारे निचे जितने भी मेम्बर होंगे और वे जितना ज्यादा प्रोडक्ट की बिक्री करेंगे उससे उसको प्रॉफिट होने के साथ-साथ हमको भी कमीशन मिलेगा साथ ही अगर हमारे द्वारा बनाये गए टीम का प्रदर्शन अच्छा रहा तो हमें कंपनी के द्वारा भी बोनस दिया जायेगा और ऐसा हर एक मेम्बर के साथ होता है। इसी प्रकार से कुछ नेटवर्क मार्केटिंग का कांसेप्ट काम करता है। नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस मॉडल में रोजगार की भी संभावनाएं बहुत ही ज्यादा होती है।

अब जाहिर सी बात है की यदि कोई भी कंपनी ट्रेडिशनल मार्केटिंग सिस्टम के तहत काम नहीं कर रही है बल्कि नेटवर्क मार्केटिंग के कांसेप्ट पर काम कर रही है तो इसका कांसेप्ट ही कुछ ऐसा होता है की इसमें लोगों को जोड़-जोड़ कर कंपनी का नेटवर्क बड़ा करना होता है जिससे उस कंपनी की मार्केट में पॉपुलैरिटी बढती है, सेल बढती है, एक ब्रांड बिल्ड होती है। ऐसे में इससे जुड़े लोगों का अर्थात इसके मेम्बर का काम भी बनता है की वे अपने नेटवर्क को ज्यादा से ज्यादा बढ़ाने पर काम करे जिससे दोनों का फायदा होगा कंपनी का भी और मेम्बर का भी क्योंकि अगर मान लें की कोई कंपनी साबुन बनती है और नेटवर्क मार्केटिंग के कांसेप्ट बिज़नेस कर रही है, तो जब तक हम (मेम्बर) अपने कंपनी की प्रोडक्ट को ज्यादा से ज्यादा सेल नहीं करवाएंगे तब तक हमारा या कम्पनी का इनकम सोर्स क्या है कुछ भी नहीं क्योंकि ऐसी कंपनियां सैलरी बेसिक सेल पर्सन रखकर काम नहीं करवाती है, इसलिए सभी मेम्बरों से यही कहा जाता है की वे अपने मेम्बर की संख्यां बढ़ाने पर काम करें ताकि ज्यादा से ज्यादा प्रोडक्ट की बिक्री हो सके और अपने इनकम को बढ़ा सकें।

यहाँ मैं आगे बढ़ने से पहले ही एक प्रश्न जोड़ देना चाहूँगा की,

क्या नेटवर्क मार्केटिंग (चैन सिस्टम बिज़नेस) बिज़नेस मॉडल फर्जी होता है?

इसका सीधा जबाब है नहीं, नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस मॉडल फर्जी नहीं होता है, फिर भी मैं बताते चलूँ की कुछ लोग जानकारी के आभाव में (अगर परसेंटेज के हिसाब से देखा जाय तो लगभग 50% लोग) इस बिज़नेस मॉडल को गलत नजरिये से देखता है यानि इस बिज़नेस मॉडल को फ्रॉड समझता है और सामने वाले को लगता है की इसमें कंपनियों के एजेंट आयेंगे बह्कायेंगे और इससे जुड़ने को कहेंगे फिर जब इसका नेटवर्क बड़ा हो जायेगा पूरी कंपनी भाग जाएगी, जो लोगों के बीच में एक बिलकुल ही गलत और नकारात्मक अवधारणा है।

हालाँकि ये बात सत्य है कुछ कंपनियों के कारण ही आज पूरी एक बिज़नेस मॉडल ही बदनाम हो चुकी है क्योंकि बहुत ऐसी कंपनियां मार्केट में आई जो नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस मॉडल अर्थात चैन सिस्टम को ही यूज़ करके अपना नेटवर्क बड़ा की और बाद में भाग गयी या अपनी कंपनी बंद कर दी जिससे काफी लोगों को नुकसान हुआ। जिसके बाद जिस प्रकार से नेटवर्क बड़ा होता है ठीक उसी प्रकार नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में लोगों के बीच नकारात्मक सोच का दायरा बड़ा हो गया जिस कारण ये आज भी बहुत से लोगों के नजर में गलत है।

कुछ लोग इस बिज़नेस मॉडल को Instant Money Making Job समझते है जो बिल्कुल ही गलत है, ये बिज़नेस मॉडल पैसे छापने की कोई कला नही सिखाती है बल्कि सब को मेहनत करके पैसे कमाने की मौका देती है, और कोई वैसा क्षेत्र नही है जिसमे बिना मेहनत के पैसा कमाया जा सके। इसलिए इससे भी जुड़कर काम करने पर धैर्य के साथ अच्छी खासी मेहनत करनी पड़ती है और जो जितनी ज्यादा मेहनत करता है वे उतनी ही ज्यादा ऊंचाइयों को छूते है।

अब बात है की Chain System Marketing या Network Marketing तो एक Business का Marketing Model है जिसके आधार पर कोई बिज़नेस करती है और अपने बिज़नेस को ब्रॉड लेवल तक ले के जाती है, ऐसे में ये बिज़नेस मॉडल तो गलत नहीं हो सकता है ना। कोई कंपनी गलत या फर्जी हो सकती है जिसके बारे में हमें खुद जानना पड़ता है फिर आगे उसमे काम करना है या नहीं निर्णय लेना पड़ता है। सीधे नेटवर्क मार्केटिंग को ही हम गलत नहीं कह सकते क्योंकि आज बहुत सारी कंपनियां है जो इसी बिज़नेस मॉडल पर काम कर रही है और उसका नेटवर्क भी बहुत ही बड़ा हो चुका है जिससे जुड़े मेम्बर भी लाखों करोड़ों में कमा रहे है।

नेटवर्क मार्केटिंग में कमाई कैसे होती है?

नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस मॉडल के तहत काम करने वाली कुछ कंपनियों को देखते हुए कहा जाय तो, यदि हम ऐसे कंपनियों से जुड़कर यदि काम करते हैं तो इसमें मुख्यतः दो तरह से इनकम हो सकते हैं जिनमें से एक है रिटेल शॉप की तरह कंपनी के प्रोडक्ट की बिक्री कर और दूसरा है अपने नीचे पार्टिसिपेंट मेंबर को जोड़ कर।

रिटेल शॉप खोल कर कंपनी के द्द्वारा बनाये जा रहे प्रोडक्ट की बिक्री करके केवल उतना ही कमा सकते हैं जितना हम कंपनी के प्रोडक्ट को सेल करेंगे यानी इसमें इनकम प्रोडक्ट की सेल और मार्जिन पर निर्भर करेगा जो एक तरह से एक्टिव इनकम सोर्स की तरह होगा, जबकि यदि हम अपने नीचे चैन में पार्टिसिपेंट मेंबर को जोड़ कर अपनी टीम की संख्या को बढ़ाते हैं तो हमारी टीम के द्वारा बेचे जा रहे प्रोडक्ट पर भी हमें कमीशन मिलेगा, जो एक पैसिव इनकम सोर्स की तरह लंबे समय तक इनकम होता रहेगा। ऐसी स्थिति में हम काम करें या नहीं करें हमारी टीम के द्वारा किए जा रहे काम पर भी हमें इनकम होता है, हालांकि इसमें हमे अपनी टीम में पार्टिसिपेंट मेंबर की संख्या को बढ़ाने पर ज्यादा फोकस करना होता है क्योंकि जितनी ज्यादा संख्या में हमारे चैन से लोग जुड़ेंगे उतनी ही ज्यादा हमें इनकम होने की भी चान्सेस होते है साथ ही यदि हमारे द्वारा बनाए गए टीमों का प्रदर्शन अच्छा रहा तो कई बार कंपनी के द्वारा बोनस भी दिया जाता है।

इसके अलावा हम चाहे तो दोनों तरह से भी इनकम कर सकते हैं एक तो रिटेल शॉप के माध्यम से अर्थात डायरेक्ट प्रोडक्ट सेल करके ओर दूसरा अपनी चैन में टीम को जोड़कर मिलने वाले कमीशन से।

नेटवर्क मार्केटिंग का फ्यूचर कैसा रहेगा?

जैसा कि हम सब देख रहे है कि आज बेरोजगारी दिन-प्रतिदिन बढ़ते ही जा रही है ओर ऐसा लग रहा है कि आनेवाले समय मे सरकारी अथवा प्राइवेट क्षेत्र में रोजगार की संभावना और भी कम हो जाएगी क्योंकि जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का विकास होता जा रहा है वैसे-वैसे कुछ क्षेत्र में रोजगार सृजन हो रहा है तो बहुत क्षेत्र में रोजगार में कमी भी हो रही है। साथ ही जिस गति से जनसंख्या में वृद्धि हो रही है तो ऐसा लगता है कि आनेवाले समय मे निश्चित ही बेरोजगारी बढ़ेगी।

ऐसे में कुछ व्यावसायिक मॉडल को हमे बदलना होगा और वैसे व्यावसायिक मॉडल को अपनाना होगा जिसमें कोई एक ही व्यक्ति के द्वारा बड़ा स्थान घेरकर व्यवसाय करने के बजाय ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़कर व्यवसाय कर सके और सभी Independent Business Owner बनकर इनकम कर सके।

जब ऐसी बिज़नेस मॉडल की बात करें तो इसमें Network Marketing एक बहुत ही अच्छा विकल्प हो सकता है क्योंकि इसका कांसेप्ट ही कुछ ऐसा होता है कि इसमें ज्यादा से ज्यादा संख्यां में लोग जुड़कर काम करते हैं और सभी अपने मेहनत और कार्य के दम पर इनकम करते हैं। ऐसे में ऐसा लग रहा है कि आने वाले दिनों में नेटवर्क मार्केटिंग के क्षेत्र में और भी बढ़ोतरी होने की संभावना है।

जब बात करें की नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़ कर कम करने पर अपना भविष्य कैसा रहेगा तो इसके लिए मैं बता दूं की नेटवर्क मार्केटिंग सिस्टम कोई गलत चीज नहीं है बल्कि यह एक बिजनेस मॉडल है जिस से जुड़ कर काम करने पर हमारा भविष्य कैसा रहेगा यह जुड़ने वाले कंपनी और हमारे मेहनत पर निर्भर करता है, इस क्षेत्र में हम जितनी ज्यादा मेहनत करेंगे उतनी ही आगे जाने की संभावना रहती है इसका कोई लिमिट नही है।

अच्छी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी का चुनाव कैसे करें?

अगर यदि आप एक अच्छी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी की चुनाव करने के बारे में सोच रहे है तो निम्नलिखित पहलु पर बारीकी से ध्यान दें:-

कंपनी की सत्यता की जांच करें:

कोई भी लोग किसी कंपनी में ज्वाइन करने के बारे में सोच रहें हो तो सबसे पहले उस कंपनी की सत्यता की ही जांच करें की वह कंपनी जेन्युइन है या नहीं, वह कंपनी सरकार से रजिस्टर्ड है की नहीं, सरकारी गाइडलाइन को फॉलो कर रही है या नहीं, उस कंपनी की मार्केट में Reputation कैसी है, वैगरह-वैगरह।

कंपनी की प्रोडक्ट के बारे में जानने का प्रयास करें:

जिस भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी को ज्वाइन करने जा रहें हों उसके द्वारा बनाये जा रहे प्रोडक्ट के बारे में जानने का प्रयास करें की वे कंपनी किस प्रोडक्ट पर काम कर रही है, उसकी प्रोडक्ट की Quality कैसी है, प्रोडक्ट का प्राइस क्या है, क्या उसका प्रोडक्ट आपके आस-पास के लोग पसंद करेंगे या नहीं, क्या उसका प्रोडक्ट आपके इलाके में हर एक लोगों के बीच बिक्री होने लायक है या नहीं या वह कंपनी कोई प्रीमियम प्रोडक्ट के पीछे काम कर रही है। इन सब के बारे में जानने से आपको यह पता लगाने में आसानी होगी की जिस कंपनी में हम जुड़ने जा रहे है उन कंपनी के प्रोडक्ट को किस टाइप के कस्टमर के बीच प्रमोट करना चाहिए।

कंपनी के हेडऑफिस, रीजनल ऑफिस इत्यादि के बारे में जाने:

जैसा की भारत सरकार का निर्देश है की किसी भी डायरेक्ट सेलिंग कंपनी को पुरे भारतवर्ष में कम से कम एक जगह ऑफिस रखना अनिवार्य है, ऐसे में किसी भी कंपनी को ज्वाइन करने से पहले उसके हेडऑफिस, रीजनल ऑफिस के लोकेशन इत्यादि के बारे में अच्छी जान लेना चाहिए।

कंपनी की योजनाओं के बारे में जाने:

कंपनी की Main Motive के बारे में जानने का प्रयास करें की जो भी कंपनी हम जुड़ने जा रहे है उसकी लक्ष्य क्या है और मार्केट में किस प्रकार से काम करना चाहती है। कंपनी उपभोगताओं को किस प्रकार की फायदा देकर अपने ओर आकर्षित करने का लक्ष्य रखा है, इत्यादि।

कंपनी के पिछले रिकॉर्ड के बारे में जाने:

ये एक जरुरी मुद्दा है आप जिस भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में जुड़ने जा रहे है उसके पिछले कई सालों का रिकॉर्ड जानने का प्रयास करें की उस कंपनी में जो भी लोग काम कर रहे है उसकी पोजीशन क्या है, कितने लोग है जो वर्षों से काम कर रही है, कितने लोग है जो छोड़ के जा चुकें है, इन सब के बारे में जानने का प्रयास करें ताकि यह पता लगाया जा सके की पहले कंपनी का रिकॉर्ड कैसा रहा है।

कंपनी के इतिहास और फाउंडर के बारे में जाने:

कंपनी के इतिहास को जानने का प्रयास करें की कंपनी कब शुरू हुई थी, उस कंपनी के फाउंडर कौन है, फाउंडर की बिज़नेस हिस्ट्री कैसा रहा है, क्या कंपनी के फाउंडर बहुचर्चित है, पहले वे कंपनी किस क्षेत्र में काम कर रही थी, क्या वे कंपनी शुरू से ही नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस मॉडल पर ही काम कर रही है यदि कर रही है तो पहले इसका इतिहास कैसा रहा है।

कंपनी के टर्म्स एंड कंडीशन इत्यादि के बारे में जाने:

किसी भी कंपनी को ज्वाइन करने से पहले उसके टर्म्स एंड कंडीशन के बारे में जानना अति आवश्यक होता है क्योंकि उसकी टर्म्स एंड कंडीशन ही हमारी और उसके अधिकारों के बारे में बताती है जिससे यह पता चलता है की वे कंपनी हमें क्या अधिकार देने वाले है और उस कंपनी के क्या अधिकार होंगे तथा जिसके साथ प्रोडक्ट सेल करेंगे उसके क्या अधिकार होंगे, इत्यादि।

कंपनी के द्वारा दी जानेवाली ट्रेनिंग, प्रोग्राम इत्यादि के बारे में जाने:

किसी कंपनी के नेटवर्क में ज्वाइन होने से पहले उसके द्वारा दी जानेवाली ट्रेनिंग, प्रोग्राम इत्यादि के बारे में भी जाने क्योंकि जब आप नए-नए ज्वाइन होंगे तब आपको इस क्षेत्र में काम करने का कोई तजुर्बा नही होगा, इसलिए अगर यदि वे कंपनी आपको ट्रेनिंग, सेमिनार इत्यादि अटेंड करवाती है तो वहां आपको इस क्षेत्र में काम करने की स्किल सिखाई जाएगी जिससे आप लोगों के सामने एक प्रोफेशनल की तरह प्रस्तुत हो पाएंगे और काम करने में आसानी होगी।

झूठी या ज्यादा पैसा कमाने की लालच में कभी ना आयें:

केवल पैसे के लालच में कभी भी आप किसी के बहकावे में ना आवें तो ही अच्छा होगा, क्योंकि मार्केट में बहुत सारी फ्रॉड कंपनियां है जो आपको बड़ी-बड़ी सपना दिखाकर बहका लेंगे और आपको भविष्य में भारी नुकसान का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए किसी भी कंपनी के नेटवर्क में ज्वाइन होने से पूर्व उसके बारे में अच्छी तरह जांच पड़ताल कर लें।

अब बात आती है कि….

क्या हमें नेटवर्क मार्केटिंग वाली कंपनी ज्वाइन करना चाहिए?

जब बात आती है कि क्या नेटवर्क मार्केटिंग वाली कंपनी ज्वाइन करना चाहिए या नही तो इसके लिए में स्पष्ट रूप से आपको बता देना चाहूंगा कि सबसे पहले आप ये निर्णय लें कि क्या आपके अंदर इस क्षेत्र में काम करने की रुचि है, क्या इन कामों में ज्यादा से ज्यादा मेहनत कर पाएंगे, क्या लोगों को अपने चैन सिस्टम में जोड़ पाएंगे, क्या आपके द्वारा सेलेक्टेड कंपनी के प्रोडक्ट को आप ज्यादा से ज्यादा बेच पाएंगे अगर हाँ तो निश्चित ही आप नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी ज्वाइन कर सकते है क्योंकि यदि ये सभी एबिलिटी आपके अन्दर है तो आप इस क्षेत्र में भी कुछ अच्छा कर सकते है। हालाँकि एक बात हमेशा ध्यान रखें की आप जिस भी कंपनी से जुड़ने जा रहें है उसके भूत, वर्तमान और भविष्य के बारे में अपने स्तर से पता लगा लें उसके बाद ही आगे कदम रखें जो आपका कर्त्तव्य बनता है।

नेटवर्क मार्केटिंग के फायदे?

नेटवर्क मार्केटिंग के फायदे की बात करें तो इसके निम्नलिखित फायदे हैं जैसे:-

  • चूँकि इस बिज़नेस मॉडल में चैन सिस्टम के तहत नेटवर्क बनाना होता है इसलिए इस बिज़नेस मॉडल में ज्यादा से ज्यादा संख्याओं में लोगों को रोजगार मिल सकती है।
  • इस बिज़नेस मॉडल पर काम करनेवाली कंपनी से जुड़ने के लिए कोई Age Limit नही होती है, अर्थात किसी भी उम्र के लोग इससे जुड़कर काम कर सकते है।
  • इस बिज़नेस से जुड़ने के लिए कोई विशेष डिग्री की बाध्यता नही होती है।
  • इस बिज़नेस में कम पढ़े लिखे लोग भी इसमे मेहनत करके बड़ी ऊंचाइयों प्राप्त कर सकते है।
  • इसमे काम करने पर लोगों के अंदर सेल्फ कॉन्फिडेंस में वृद्धि होती है जिससे आगे अगर कोई दूसरा भी काम करे तो वे वहां एक कॉंफिडेंट पर्सन की तरह खरे उतरते है।
  • इस बिज़नेस से जुड़कर काम करने के लिए कोई विशेष मोटी फण्ड की जरुरत नहीं होती है।
  • इस बिज़नेस से जुड़कर एक लॉन्ग टर्म पैसिव इनकम का श्रोत बनाया जा सकता है।
  • इसमें समय की कोई बाध्यता नहीं होती है इसलिए इसे पार्ट टाइम में भी किया जा सकता है।

नेटवर्क मार्केटिंग के नुकसान?

  • नेटवर्क मार्केटिंग के नुकसान की बात करें तो इसमें सबसे बड़ा नुकसान यह है कि, कुछ लोग जुड़ने जा रहे कंपनियों के बारे में गहराई से नही जान पाते है जिस कारण कई बार ऐसे कंपनियां मार्केट में कुछ दिन काम करके भाग जाती है या कंपनी बंद कर देती है जिससे भारी नुकसान होता है।
  • इसमें सफलता की कोई निश्चित सीमा नहीं होती है जिस कारण बहुत से लोग कुछ दिन काम करने के बाद अपने आपको इस क्षेत्र में असफल समझने लगते है।
  • चुकीं नेटवर्क मार्केटिंग के प्रति ज्यादातर लोगों के बीच नकारात्मक सोच फैली हुई है इसलिए ज्यादातर लोग इससे जुड़ने से इतराते है जिस कारण इस क्षेत्र में आये हुए नए-नए मेम्बर भी असहज महसूस करने लगते है।
  • अच्छी कंपनियों के साथ-साथ आज बहुत सारी मनी सर्कुलेशन करने वाली और फ्रॉड कंपनियां भी मार्केट में इसी बिज़नेस माडल पर काम कर रही है जिससे जाने अनजाने में बहुत से लोग जुड़ भी जाते है और बाद में कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है।
  • बेरोजगारी का फायदा उठाने के लिए कई लोग फर्जी डॉक्यूमेंट दिखाकर लोगों से नेटवर्क मार्केटिंग के तहत काम करनेवाली किसी कंपनी से जोड़ने के नाम पर पैसे ठगी करते है। हालाँकि किसी कंपनी के बारे में सत्यता की जांच करना हमारा और आपका फर्ज बनता है।

निष्कर्ष:
फ्रेंड्स हम इस आर्टिकल में Network Marketing जिसे MLM इत्यादि के नाम से भी जानते है, जो एक Marketing Model है, के बारे में बिल्कुल ही बारीकी से समझाने का प्रयास किया है और हमे उम्मीद है कि यदि आप नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में जानने के लिए यहां आएं होंगे तो यह आर्टिकल आपके लिए काफी हेल्पफुल रही होगी, फिर भी किसी प्रकार की कोई कंफ्यूजन राह गयी हो तो कमेन्ट के माध्यम से बेझिझक पूछ सकते है, हम आपके कमेंट का जबाब देने की पूरी कोशिश करेंगे। यह आर्टिकल आपको कैसी लगी इसके बारे में फीडबैक जरूर दें ताकि हमे इसकी गुणवत्ता का पता चल सके और आगे इसमे इम्प्रूवमेंट ला सकें। साथ ही अगर यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आई हो तो औरों के साथ शेयर करें। इसी प्रकार की और भी आर्टिकल पढ़ते रहने के लिए Comtechinhind.IN से जुड़े रहें….धन्यवाद!

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad