सॉफ्टवेयर क्या है | What is a software in hindi | Software kya hai ?

सॉफ्टवेयर क्या है? What is a software in hindi ?

What is a software in hindi
फ्रेंड्स हम में से जो भी लोग कंप्यूटर का इस्तेमाल करते है उन्हें कंप्यूटर के दो ऐसे टर्म्स है जिसकी जानकारी शायद सब के जुबानो पर रहता है वो टर्म्स है Hardware और Software. पर क्या आपको इन दोनों टर्म्स के बारे में पता है की ये दोनों है क्या. इनमे से हार्डवेयर के बारे में चर्चा तो किसी दुसरे आर्टिकल में करेंगे पर आज यहाँ हमलोग सॉफ्टवेयर के बारे में जानने जा रहे है. तो चलिए शुरू करते है....

सॉफ्टवेयर क्या है ?

वास्तविक में सॉफ्टवेयर Programmer के द्वारा Programming Language में लिखा हुआ इंस्ट्रक्शन सेट का एक ऐसा समूह है जो किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को Human User Friendly एवं स्वचालित मशीन बनाने मैं सहायता प्रदान करता है उसे सॉफ्टवेयर या कम्प्युटर प्रोग्राम कहते है। कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर यूजर को कार्य करने की क्षमता प्रदान करता है बिना सॉफ्टवेयर के कंप्यूटर पर कार्य कर पाना असंभव है । सॉफ्टवेयर के द्वारा ही कम्प्युटर पर कोई भी कार्य कराये जाते है। क्योंकि सॉफ्टवेयर के द्वारा मनुष्य अपनी भाषा को कंप्यूटर को समझा पाता है और कंप्यूटर उसे समझ पाता है
सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए जिस लैंग्वेज का यूज किया जाता है उसे Programming Language कहते हैं।

Programming Language दो तरह के होते हैं-

1.Low Level Language (निम्न स्तरीय भाषा)
2.High Level Language (उच्च स्तरीय भाषा)

1. Low Level Language

Low Level Language
कम्प्युटर की वैसी भाषा को कहते है जिसे कोई भी इलेक्ट्रॉनिक्स मशीन समझता है जिसे Machine Language कहते है और यह Machine Language केवल दो Digit 0 और 1 से मिलकर बना होता है जिसे Binary Number कहते है । इसी Machine Language के Help से दुनिया का कोई भी Software बनाए जाते है। सुरुवाती दोर में केवल Machine Language के Help से ही सॉफ्टवेयर बनाए जाते थे परंतु Machine Language में Software को लिखना बहुत ही कठिन होता है तथा बहुत अधिक गलतियाँ होने की संभावना रहती है और गलती हो जाने पर उसे सुधारणा भी कठिन होता है। इस समस्या से निपटने के लिए धीरे-धीरे बहुत सारे प्रोग्रामिंग भाषा का विकास किया गया जिसे High Level Language की श्रेणी में रखा गया है।

2. High Level Language

High Level Language
कम्प्युटर की वैसी भाषा है जो English Word, Special Character, Mathematical Symbol Etc से मिलकर बनी होती है जिसकी सहायता से कोई भी Program लिखना आसान होता है । इन Language के तहत बनाए गए सॉफ्टवेयर में गलतियाँ होने की संभावना कम रहती है तथा गलती हो जाने पर भी इसे सुधारणा आसान रहता है। HLL(High Level Language) में बहुत सारे प्रोग्रामिंग भाषाएँ प्रचलित है जैसे-
BASIC, FORTRAN, COBOL, PASCAL, ALGOL, C, C++ इत्यादि
अब समझने वाली बात यह है की HLL में लिखा गया सॉफ्टवेअर तो आंग्रजी भाषा के Base पर होते है और कोई भी इलेक्ट्रॉनिक्स मशीन केवल Machine Language ( जो LLL की श्रेणी में आते है ) को समझता है तो इसके लिए HLL को LLL में Convert करने के लिए Translator की तरह एक Software बनाए जाते है जिसे Compiler कहा जाता है। और यही Compiler HLL को Machine Language में बदलकर कम्प्युटर को समझने के लायक बनाता है।

कम्प्युटर सॉफ्टवेयर दो तरह के होते है-

1.System Software
2.Application Software

1. System Software

वैसे प्रोग्रामों को कहा जाता है जिसका काम सिस्टम को चलना तथा काम करने के लायक बनाना होता है । सिस्टम सॉफ्टवेयर ही हार्डवेयर में जान डालने का काम करता है। कम्प्युटर में सिस्टम सॉफ्टवेयर भी कई तरह के होते है जैसे-
Compiler
Device Driver
Firmware

2. Application Software

वैसे प्रोग्राम जो अलग-अलग कार्यों के लिए अलग-अलग प्रकार से लिखें जाते है जिसे हमारे किसी खास काम के लिए बनाए गए होते है जिसपर हम अपना कोई मूल काम करते है ऐसे सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर कहलाते है। जैसे- MS Word, Excel, Tally, Coral Draw, Adobe Photoshop, VLC Media Player, Internet Browser Etc. ये सभी एप्लिकेशन सॉफ्टवेअर है।

इन्हें भी देखें:→


फ्रेंड्स हमें उम्मीद है की सॉफ्टवेयर के बारे में लिखी गयी इस छोटी सी आर्टिकल के माध्यम से आपको जरुर कुछ जानने को मिला होगा साथ ही यह आर्टिकल आपको कैसी लगी इसकी प्रतिक्रिया हमें कमेंट के माध्यम से जरुर दें. अगर यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें. Comtech In Hindi से जुड़े रहने के लिए....धन्यवाद !