Type Here to Get Search Results !

टेलीप्रॉम्पटर क्या होता है? Teleprompter kya hota hai? जानिए आसान भाषा में?

टेलीप्रॉम्पटर क्या होता है? What is teleprompter in hindi? जाने टेलीप्रॉम्पटर के बारे में वो सब कुछ जो आप जानना चाहते है?

फ्रेंड्स हम सभी न्यूज़ चैनल में न्यूज़ एंकर को या किसी रैली में बड़े-बड़े नेताओं को बड़े ही फ्लुएंटली भाषण देते देखते है और हमें ऐसा लगता है कि ये सभी Eye-Contact बनाये रखते हुए इतने अच्छे तरीके से बिना कोई भी लाइन भूले कैसे बोल पाते है, क्या ये सभी स्क्रिप्ट याद करके आते है क्या और अगर याद करके भी आते है तो क्या ये लोग एक भी लाइन नहीं भूल सकते तो इसका जबाब है हाँ ये सभी भी भूल सकते है परंतु इन्ही भूल से बचने के लिए एक ऐसे इक्विपमेंट का सहारा लेते है जिसका नाम है टेलीप्रॉम्पटर (Teleprompter).

पर क्या आपको पता है कि ये टेलीप्रॉम्पटर  क्या होता है, टेलीप्रॉम्पटर कैसे कार्य करता है, टेलीप्रॉम्पटर कहाँ लगाया जाता है, अगर ऐसे ही सवालों का जबाब ढूंढते हुए यहाँ तक आये तो आप सही जगह है क्योंकि आज हमलोग इस टॉपिक में टेलीप्रॉम्पटर के बारे में ही चर्चा करने जा रहे है, इसलिए आपसे आग्रह है कि पूरी आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ें....

टेलीप्रॉम्पटर क्या होता है? Teleprompter kya hota hai?

Teleprompter kya hota hai?

Teleprompter जो कुल मिलाकर अंग्रेजी के दो शब्दों से मिलकर बना है Tele और Prompter जिसमे Tele का मतलब होता है दूरस्थ यानि दूर से और Prompter का मतलब होता है अनुबोधक या स्मरण करने वाला अर्थात टेलीप्रॉम्पटर का पूरा मतलब होता है दूर से किसी इंसान को याद दिलाने वाला।

ऐसे में टेलीप्रॉम्पटर के बारे में कहें तो,
टेलीप्रॉम्पटर न्यूज़ प्रोडक्शन के क्षेत्र में उपयोग किया जानेवाला एक ऐसा डिस्प्ले डिवाइस होता है जो न्यूज़ बुलेटिन के दौरान एंकर के लिए कैमरे के सामने स्क्रिप्ट राइटर के द्वारा लिखी गई स्क्रिप्ट को इलेक्ट्रॉनिक रूप में प्रस्तुत करने का काम करता है जिससे न्यूज़ एंकर बड़े ही आसानी से कैमरे के सामने Eye-Contact बनाये रखते हुए स्क्रिप्ट को पढ़ते हुए न्यूज़ प्रस्तुत कर पाता है। Teleprompter को Autocue भी कहा जाता है।

टेलीप्रॉम्पटर का महत्वपूर्ण उपयोग मल्टीमीडिया के क्षेत्र में ही होता है क्योंकि इन क्षेत्रों में न्यूज़ एंकर को न्यूज़ रिकॉर्डिंग के वक्त कैमरे के सामने बिना भूले बोलना पड़ता है वो भी एक Time Frame के साथ इसलिए इन कार्यों के लिए टेलीप्रॉम्पटर महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

टेलीप्रॉम्पटर का उपयोग कहां किया जाता है? Where is a teleprompter used?

टेलीप्रॉम्पटर का उपयोग मुख्य रूप से मल्टीमीडिया के क्षेत्र में किया जाता है, खासकर न्यूज़ प्रोडक्शन के दौरान कैमरे के सामने स्क्रिप्ट पढ़ने के लिए किया जाता है।

वैसे इसका उपयोग न्यूज़ प्रोडक्शन के अलावे भी कई स्थानों पर किया जाता है जैसे- किसी बड़ी सभा में राजनेताओं द्वारा भूल से बचने के लिए स्क्रिप्ट पढ़ते हुए भाषण देने के लिए, वीडियो बनाने के लिए, स्टेज शो के दौरान सिंगर द्वारा गाना गाने के लिए।
इसके अलावा आजकल इसका उपयोग प्रोफेशनल तरीके से Facecam YouTube Video बनाने के लिए भी वृहत पैमाने पर किया जाता है।

Read Also:→

टेलीप्रॉम्पटर कैसे कार्य करता है? How does a teleprompter work?

टेलीप्रॉम्पटर के मुख्य रूप से दो भाग होते है जिनमे से एक भाग होता है "Monitor Display" और दूसरा भाग होता है "Beam Splitter" जो एक Reflective Glass Screen होता है।

Monitor Display पर कंप्यूटर के द्वारा लिखी गयी Script उल्टी अक्षरों में शो होती है और Beam Splitter Glass उन अक्षरों को कैमरे के सामने सीधी अक्षरों में Line By Line शो करती है जिसे News Anchor या कोई Video Creator उसे पढ़ते हुए अपनी वीडियो रिकॉर्ड करता है।

टेलीप्रॉम्पटर को कैमरे के सामने लगाया जाता है जिसके आगे Beam Splitter Screen लगी होती है जो एक Transparent Mirror होती है जिस कारण इसके पीछे लगे कैमरे के व्यू को बिना बाधा पहुंचाए मॉनिटर की स्क्रिप्ट को Reflect करके सामने वाले को दिखाने का काम करता है। यह Beam Splitter स्क्रीन लगभग 45° सामने की ओर झुकी होती है जिससे नीचे रखी Monitor Display पर शो हो रही पूरी स्क्रिप्ट Beam Splitter स्क्रीन पर सामने से सीधी दिखाई देती है।

आमतोर पर टेलीप्रॉम्पटर की स्क्रीन पर कंप्यूटर से आ रही स्क्रिप्ट (Text) की स्क्रॉलिंग स्पीड को बोलने की स्पीड के अनुकूल रखने के लिए या कहें तो स्क्रॉलिंग स्पीड कण्ट्रोल करने के लिए फूट पेडल लगी होती है जिसकी मदद से पैर के सहारे ही स्क्रिप्ट की स्क्रॉलिंग स्पीड कण्ट्रोल की जाती है, किसी-किसी टेलीप्रॉम्पटर में फूट पेडल कण्ट्रोल का यूज़ ना करके  Remote Control का भी यूज़ किया जाता है, हालाँकि ये सभी Self Operated मेथड होती है इसलिए जिसमे Self Operated मेथड का कांसेप्ट नहीं होता है उसे Co-Operator के द्वारा Text Scrolling Speed कण्ट्रोल किया जाता है।

टेलीप्रॉम्पटर कितने प्रकार के होते है? Types of teleprompter?

टेलीप्रॉम्पटर मुख्यतः दो प्रकार के होते है-
Presidential Teleprompters:
Camera Mounted Teleprompters:

Presidential Teleprompters:-

Presidential Teleprompters?

प्रेसिडेंशियल टेलीप्रॉम्प्टर में एक पतले पोल के ऊपर में केवल एक Transparent Beam Splitter Mirror लगी होती है और इसके निचे बेस में एक मॉनिटर लगी होती है, इसके मॉनिटर पर उलटे अक्षरों में सारी स्क्रिप्ट आ रही होती है और ऊपर लगी Beam Splitter Mirror उसे Reflect करके दिखाने का काम करता है।
आम तौर पर इस प्रकार के टेलीप्रॉम्प्टर का उपयोग राजनेताओं द्वारा किसी सभा में दर्शकों को संबोधित करने के लिए किया जाता है और यह हमेशा किसी मंच पर जोड़े में लगा होता है ताकि बाएं और दायें दोनों तरफ के दर्शकों के साथ Eye-Contact बनाये रखते हुए आसानी से सभा को संबोधित किया जा सके।

Camera Mounted Teleprompters:

Camera Mounted Teleprompters?

कैमरा माउंटेड टेलीप्रॉम्प्टर को हमेशा कैमरा के आगे लगाया जाता है जिससे कैमरा टेलीप्रॉम्प्टर ग्लास हुड के पीछे आ जाता है और स्पीकर यानि विडियो क्रिएटर टेलीप्रॉम्प्टर के आगे बैठकर कैमरा के साथ Eye-Contact बनाये रखते हुए स्क्रिप्ट को पढ़ते हुए अपनी विडियो रिकॉर्ड करता है।
इस टेलीप्रॉम्प्टर का उपयोग वीडियो प्रोडक्शन के लिए मल्टीमीडिया, शिक्षा, ई-लर्निंग या किसी अन्य क्षेत्रों में वृहत पैमाने पर किया जाता हैं।

टेलीप्रॉम्पटर की विशेषताएं? Advantage of teleprompter?

  • टेलीप्रॉम्पटर की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इस तकनीक का सहारा लेने से Eye-Contact बनाये रखते हुए बिना भूले अपनी बात कैमरे के सामने रख पाते है।
  • न्यूज़ वीडियो प्रोडक्शन के दौरान स्क्रिप्ट लिखी हुई कागज रखने से मुक्ति मिल जाती है क्योंकि उसके बदले सारी स्क्रिप्ट हमारे सामने डिजिटल रूप में प्रस्तुत हो रहा होता है।
  • सीधे ही लाइव कंप्यूटर पर लिखी जा रही स्क्रिप्ट को पढ़ते हुए लाइव न्यूज़ बुलेटिन प्रस्तुत करने में मदद मिलती है।
  • टेलीप्रॉम्पटर की मदद से किसी दूसरे भाषाओँ में भी भाषण देने या न्यूज़ बुलेटिन प्रस्तुत करने में आसानी होती है।
  • कैमरे में लगाये जानेवाले टेलीप्रॉम्पटर की बनावट ऐसी होती है की इसका एक भी हिस्सा कैमरे के रिकॉर्ड में कैद नहीं होता है जिससे बिलकुल Neat & Clean विडियो प्राप्त होती है।
  • इसकी मदद से वीडियो रिकॉर्डिंग करते वक्त अथवा सभा को संबोधित करने के दौरान घबराहट जैसी स्थिति उत्पन्न नहीं होती है और कॉन्फिडेंस लेवल हाई रहता है जिससे भूलने की चान्सेस नहीं के बराबर रहती है और यदि भूल हो भी रही हो तो यह हमारी मदद करता है।

Conclusion (निष्कर्ष):
फ्रेंड्स हमें उम्मीद है कि Teleprompter के बारे में हमारे द्वारा लिखी गयी इस आर्टिकल के माध्यम से आपको इसके बारे में बहुत कुछ जानने को मिला होगा साथ ही इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको यह समझ में आ गया होगा की टेलीप्रॉम्पटर क्या होता है, इसका क्या यूज़ है तथा यह कैसे काम करता है, फिर भी किसी प्रकार की कोई कंफ्यूजन रह गयी हो तो कमेंट के माध्यम से बेझिझक पूछ सकते है। यह आर्टिकल आपको कैसी लगी इसकी फीडबैक कमेंट के माध्यम से देना ना भूलें, अगर यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आई हो तो अपने फ्रेंड सर्किल में अधिक से अधिक इसे शेयर करें। Comtechinhindi.IN से जुड़े रहने के लिए धन्यवाद ! आपका दिन शुभ हो।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Comtechinhindi.IN से जुड़े रहने के लिए नीचे दिए गए "JOIN" बटन को दबाकर टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन करें !

telegram join button